(बनारस की बातें ) Banaras Ki Shayari In Hindi:


banaras ki shayari in hindi

बनारस नगरी नाम सुनते ही जैसे मन में अलग ही आस्था उत्पन्न हो जाती है, यह पावन नगरी कितनी पुराणी और धार्मिक है जिसकी कल्पना हम कर सकते है हमारे आदि पुराणों में की गयी है, पहले काशी फिर बनारस और फिर वाराणसी और भी नामो में इसे जाना जाता है बाबा विश्वनाथ के आशीर्वाद से यह नगरी महादेव की नगरी कही जाती है इस पोस्ट में हम बनारस पर कुछ शायरी और कविता पढेंगे जो आपकी बनारस के साथ आस्था को और बढ़ा देगा Shayari On Banaras, Banaras Ki Shayari In Hindi. Poem on varanasi in hindi, assi ghat quotes, Banaras, Ganga ghat quotes in hindi, kashi banaras shayari, baba kashi vishwanath shayari माँ गंगा का पावन मोक्ष्दयानी जल और शांत आनंदमयी धाटों का अनुभव कितना मनमोहक होता है सायद आप लोग जानते होगे, बनारस की कुछ अलग ही रहस्य है जो हर सहर से भिन्न है, बनारस की साड़ियाँ, यहाँ का प्रशिद्ध पान पुरानी विरासतों का सहर चार विस्व्प्रशिध विस्वविध्यालय और भी बहुत कुछ जो बनारस को ख़ास बनाता है।

अगर आप भी बनारस से है तो हमें कमेंट करे अपनी राय हमें जरुर बताये आपको यह पोस्ट कैसी लगी।

 BANARAS KI SHAYARI IN HINDI: (बनारसी इश्क़)


अपना हाल अपना मिजाज सब भूल जाते है
इ बनारस है गुरु
यहाँ सब ठेठ में ही बतियाते है।

    तुम गंगा की अल्हड़ धारा
    मैं सड़को पे लगता जाम प्रिये
    तुम बाबा विश्वनाथ सी आस्था
    मैं पत्थर पर पीसता भांग प्रिये।


हर ठाट - बाट बना_रसिया
सुकून की हर घाट बना_रसिया
मन में विस्वाश बना_रसिया
दिल के जज्बात बना_रसिया। 


    बनारस की साम में मैं अपने दिल को बहला लूंगा
    धीरे-धीरे ही सही पर तेरी यादों को भुला दूंगा।


    मैं बैठा रहूँ गलियों में
    और तेरा दीदार हो जाय
    डर है मुझे इस बात का
    कही फिर ना मुझे प्यार हो जाय।


    बनारस से आस्था है
    बनारस से दिल का लगाव है,
    हम बनारसी है गुरु हमपर बाबा का आशीर्वाद है।

 

यह भी पढ़िए:-

 BANARAS KI SHAYARI: ASSI GHAT QUOTES

 

 मोहब्बत ढूढने निकले थे जनाब
कुछ लम्हे याद आ गए
वो लम्हे फिर से बिताने हम
अस्सी घाट आ गए।

Banaras Ki Shayari In Hindi



    कैसे कोई किस्सा लिख दू...
    बनारस तो अनंत कहानी है,
    हम भी बनारस के है गुरु
    हमारी खुद कई कहानी है।


    आज बैठ गया गंगा के घाटों पर
    बनारस की मस्ती में गुम गया,
    ना तेरा इश्क़ यार रहा
    इश्क़ के सारे किस्से  भूल गया।


    सब कुछ भूल कर यही के रह जाओगे
    दिल का एक टुकड़ा बनारस ही छोड़ आओगे।

GANGA GHAT QUOTES IN HINDI:

    बनारस में बाबा विश्वनाथ की कृपा
    माँ गंगा का निर्मल घाट हो
    मैं सब भूल महादेव
    बस तू  याद हो।



    गंगा के घाटों की रौनक
    जैसे एक सपना सा लगता है,
    अनजान कोई भी हो
    बनारस सबको अपना सा ही  है।

Ganga ghat quotes in hindi

 

घाटों पर मस्ती से नहाना
पंडित जी से  त्रिपुंड लगवाना
महादेव का जयकारा लगाना
अलग ही अहसास होता है।

 

    बातों में गाली, मुँह में पान
    अड्डा इनका पान की दुकान
    ये अपने बनरसी चाचा की पहचान।


    यहां सब गुरु हैं, ना कोई चेला
    मस्तमौला अंदाज न कोई झमेला।


    बाबा विश्वनाथ की कृपा और
    माँ अन्नपूर्णा का आशीर्वाद है,
    सबके चहरे पे हँसी और मस्ती भरा मिजाज है।


    मैं बैठ गया अस्सी घाट पर
    बनारस में  यूं दिन गुजर गए
    ना तेरा इश्क़ याद रहा,  तेरी बातें भी भूल गए ।

SHAYARI ON BANARAS: [ASS GHAT QUOTES]

shayari on banaras




आ तुझे बनारसी इश्क़ की एक साम दिखाऊं,
एक कड़क चाय और एक मीठा पान खिलाऊं।

ये बनारसी इश्क़ है गुरु
घाटों पर बैठकर हमने सुबह से साम कर दिये है।

 

 वो  घुमाने का ज़िद करे उसे अस्सी घाट ले आना
जब बनारसी रंग में रंगे एक मीठा पानखिला देना।

 

BANARAS KI SHAYARI IN HINDI: POEM ON VARANASI IN HINDI

वो गलियों के भुलक्कड़ रास्ते
हर नुक्कड़ पर चाय और नाश्ते,
चाचा के राजनीति कि बाते
सड़कों से जाम के शोर है आते,
शाम की महफ़िल का मैं दीवाना
रोशन हैं सड़के,
गंगा आरती में वो भीड़ का आना
बाबा के दरबार की भक्ति 
माँ अन्नपूर्णा की शक्ति,
संकटमोचन का आशीर्वाद 
गंगा का  पावन घाट 
घंटो की आवाज से यहां सवेरा है
धाटों पर साधु संतों का बसेरा है।
यहाँ के लोगों का अलग ही व्यवहार है 
अनजानों से भी दोस्तों जैसा प्यार है।
कितना कुछ लिख दू बनारस के प्यार में 
कम पड़ जाते  है शब्द इसके बखान में।

  

 BANARASI BHAUKAL: BANARAS SHAYARI:  BANARASI LOG 

लोगों का अकड़ और रौब धरा रह जाता है,
जब किसी बनारसी से पाला पड़ जाता है।


बनारसी भौकाल और ये मिजाज भी अजीब है
आशीर्वाद के साथ गली मिले ये आम से चीज है।


बनारसी गलियों को दिल पर ना लेना दोस्त
बिना गलियों के बात करने में मजा ही नहीं आता।


दुनियां की खबर से अनजान हो
चाय की दुकान पर चले जाना
राजनीती का लाइव शो मिलेगा। 



बनारस पर यह शायरी आपको कैसी लगी SHAYARI ON BANARAS, BANARAS KI SHAYARI IN HINDI, POEM ON KASHI अपने  विचार हमें कमेंट में जरुर में जरुर बताये। 
क्या आप भी बनारस से है तो बनारस पर अपनी बात भी हमें कमेंट में लिख दे।

 


Share:

3 comments:

  1. दिन भर की थकान अब मिटा लीजिए,
    हो चुकी रात रोशनी बुझा लीजिए,
    एक खूबसूरत ख्वाब राह देख रहा है,
    बस पलकों का परदा गिरा लीजिए!!

    ReplyDelete
  2. Bahut mast lava sir keep it up.

    ReplyDelete