| शुभ दीपावली | Diwali Ke Liye Shayari (शुभकामनाये )

 दीपावली की दिल से हार्दिक शुभेक्षा। दीपावली के लिए बेहतरीन और मस्त शायरी आपको इस पोस्ट में पढ़ने को मिलेगी जिसे आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ अपने Whatsapp और फेसबुक पोस्ट के साथ दिवाली की सुभकामनाये दे सकते है।

दिवाली का त्यौहार खुशियों का बहार लता है हम अपने घर से लेकर बाहर तक सभी जगह को रोशनी से जगमगा देते है ताकि कही अँधेरा ना रहे। हमें अपने मन को भी दुनिया के अंधकारों से मुक्त करके अच्छे विचारों को अपनाना चाहिए। अपने अन्दर की कुछ बुराइयों को निकाल देने का प्रण करना चाहिए।

 
माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा आराधना करने से आपके जीवन में धन और वैभव की कभी कभी नहीं रहती।  आपके लिए इस पोस्ट में अपने परिवार और मित्रों के लिए शुभकामनाये और दीपावली की शायरी,  Diwali Ke Liye Shayari, Diwali shubhechha shayari, Diwali ki shubhkamnaye shayari, Diwali shayari in hindi font लिखी है जो आपको जरुर पसंद आएगी।  .

 

diwali ke liye shayari

DIWALI KE LIYE SHAYARI (शुभ दीपावली)

पटाखे का शोर, दिये की रोशनी
अपनो का प्यार, मिठाइयों की भरमार 
आप के जीवन में हो हर मिठास
हर तरफ से हो खुशियों की बौछार।  दिवाली की हार्दिक शुभकामनाये


माँ लक्ष्मी आये आपके द्वार
हर खुशियों की हो बौछार
रौशन रहे आपका संसार
हमारी शुभकामनाये आपके साथ।


दीपों की माला बनाओ
हर कोने को जगमगाओ
दिखे ना अँधेरा कही इस जमी पे
हर दिल को खुशियों से सजाओ।


हर घर में उजाला, ना पाए कही रात काली
हर घर में बरसे खुशियाँ, हर घर में ही दिवाली। HAPPY DIPAWALI


 

आज सारी नाराजगी को भुला दीजिये
खुशियों के दीप जला दीजिये
अपने हो या पराये
सबको दिल से लगा लीजिये।


मिठाइयों की बहार है पटाखों का त्यौहार है
चहरे पे खुसी और दोस्तों का प्यार हो,
बाबा गणेश की कृपा माँ लक्ष्मी का आशीर्वाद हो
शुभकामनाये दिल से शुभ दिवाली का त्यौहार हो।

DIWALI KI SHUBHKAMNAYE SHAYARI:

 

मन प्रशन्न हो जीवन में खुशियाँ भर जाये
ये अँधेरा कही दूर चला जाये
माँ लक्ष्मी की कृपा रहे आपपर
ये दिवाली खुशियों से भर जाये।


दीदी ने चौखट पर रंगोली सजाई है
माँ ने क्या खूब मिठाइयाँ बनायीं है,
मन में अजीब ख़ुशी और चमक आई है
ये दिवाली हमें अपने घर लायी है।


अपनी मीठी बातो से मेरा दिल बहलाएगी क्या...
सुन आज दिवाली है,
मुझसे मिलाने आएगी क्या।


मोहल्ले में पटाकों का शोर My Baby I LOVE YOU Much And More.


उनकी आँखों से आंशु चुरा रहे हम
चहरे पर उनके हंशी सजा रहे हम
एक दिए को बुझाने से बार-बार बचा रहे मेरे हाथ
ये दिया उनके नाम का जला रहे हम।


ये दिवाली खुशीयाँ लायी है
दिल के अँधेरे में किसी ने दिए जलाये है
सोच रहा था जिनके बारे में कब से
लो आज वो मेरे घर भी आये है।


मैं कोने में जलाता दिया हूँ तुम दीपावली की शाम हो
मैं सुतली बम का शोर हूँ, तुम फुलझड़ी सी आराम हो। 


मीठी जिंदगी, सुनहरी रात में ये भूल न जाना
कोई गरीब पटाखे देखकर रात गुजार होगा।


अपने मन में खुशियों के दीपक जलाते पाओगे
किसी गरीब के चहरे पे ख़ुशी जब लाओगे।


पटाखे जलने से अच्छा है
उन पैसों से किसी की दिवाली अच्छी हो जाये।


रातों में भी सुबह सी चमक
हर दिये में शान है,
दिवाली से जमी भी आसमान है।


कैसे ये दीपावली मनाये हम
हमारी खुशी कही और है
आँखों में आंशु लिए कैसे दीप जलाये हम।


हर ओर ख़ुशी रोशन सारा जहाँ हो
अपने रूठे को मन लेना जो थोड़े नादान हो
प्रेम का एक दीपक वहा भी जला देना जिस दिल में अँधेरे का माकन हो।


अच्छे बुरे को अपना कर जीवन में आगे बढ़ना जरुरी है
एक दीपक वहा भी जलना जहाँ अँधेरा मिटना जरूरी है।

diwali par shayari


इस दिवाली कुब जलना दिये
करना रोशनी हर ख़ुशी के लिए
बुझाने ना पाए वो दीपक
जो जलाया है अपनी दोस्ती के लिए।


दूर कमरे में अँधेरा दिख रहा
किसी नादान का वहां बसेरा दिख रहा
रूठ है तेरे किसी बात से
 उसके मन में एक प्यार का दीपक जलाये रखना।


खुशियों का त्यौहार जगमगाएआपका घर संसार
माँ लक्ष्मी आये आपके द्वार
हमारी शुभकामनाये करो स्वीकार

diwali ke liye shayari




Share:

0 Comments:

Post a comment