(अपना गाँव ) Gaon Par Shayari 35+ Village Shayari

 देश आज आधुनिक युग की तरफ तेजी से अग्रसर होता जा रहा है, लोगों की जरूरतें और सुख सुविधाओं के कारण लोग गाँवों  से सहर की आकर्षित हो रहे है एक तरह शहरों की आबादी बढ़ रही है तो दूसरी तरफ गाँवों में लोग कम होते जा रहे है। 

लेकिन जब बात सुकून और जीवन में खुशहाली की होती है तो अपने गाँव की याद आने लगाती है, सच मनो तो सहर से अच्छा गांव लगता है सुविधाएं  थोड़ी कम जरुर है मगर गाँव की ताजी हवा, शांति और सहर के प्रदुषण से दूर, लोगों का आपसी प्रेम, पुराने संस्कार, अगर आप गाँव में रहे होंगे तो आपको ये सब बताने की जरुरत नहीं गाँव में साफ़ और सादगी का जीवन बड़ा ही प्यारा होता है। 

इस पोस्ट में आपके लिए गाँव की याद में कुछ शायरी और कोट्स लिखे है जो आपको अपने गाँव की याद दिलाएंगे, गांव पर शायरी, गाँव पर शायरी Gaon par shayari, gaon ki shayari, village shayari in hindi, Gaon ki purani yaadein, gaon ki ladki ki shayari, gaon ka pyar, village lover status. Apana gaon shayari.


GAON PAR SHAYARI [गांव पर शायरी ]

 

सहर ही हलचल से दूर
यहाँ मन को आराम है
घर तो अपना गाव में ही है जनाब
सहर में तो बस मकान है। 

 

Gaon Par Shayari

 

गाँव सी सादगी सहर में ना मिल पायेगी
किसी दर्द की दावा जहर में ना मिल पायेगी।


सहर की गर्मी में वो छांव याद आता है,
मस्ती में बिता जहाँ बचपन वो गाँव याद आता है।


ना कोई मतलब ना कोई प्रेम व्यवहार है
अनजान है लोग अपनो से "सहर में"
ना जाने पड़ोस में किसका माकन है।


सहर की मिटटी में वो जान कहाँ जनाब
हम तो गाँव की मिट्टी पानी में खेलकर ठीक हो जाया करते थे।

GAON KI PURANI YAADEIN | GAON KI YAAD

 

लहलहाते खेतों, और हवाओं की ताजगी से
मन शांत लगा,
फिर से गाँव अपना और सहर अनजान लगा। 

 

Gaon ki purani yaadein



किताबों की पढाई में सहर जरुर बड़ा होगा
पर संस्कार तो आज भी गाँव के अच्छे है।


यह भी देखे:-

 

वो सहर से नजदीक है पर दूरियां बहोत है,
गाँव के लोग खुश है मगर मजबूरियां बहोत है।


मीठी बोली ही सान थी
एकता से लोगों की पहचान थी,
पर अब गाँव बड़ा परेशान दिखा
यहाँ घरों के बिच में मुझे कुछ मकान दिखा।


टपकती है छत जिसके घर की
वो किसान फिर भी बारिश की दुआ मांगता है।


मतलबी लोगो और तेरे आराम से अच्छा है
थोड़ी तकलीफ सही
पर अपना गाँव, सहर से अच्छा है।
गाँव की बातें VILLAGE STATUS IN HINDI FB

पैसे देखकर रंग फिसलता नहीं है,
गाँव का इश्क है ज़नाब
हर रोज बदलता नहीं है। 

 

gaon ki ladki ki shayari


GAON KA PYAR, VILLAGE LOVE, GAON KA ISHQ

दरवाजों से छुपकर देखती है
फिर अनजान बन जाती है
गाँव का इश्क है जनाब
सहर की नौटंकियाँ नहीं।


पहले बारिश में मिट्टी की खुसबू सहर में नहीं आती
जो मन और तन दोनों को निर्मल कर जाती है।


कुछ जिम्मेदारियां मजबूर कर देती है वरना कौन अपनी मिट्टी में जीना नहीं चाहता।


वहां की हवा से परेशान लगते है
ये परिंदे अब सहर में नजर नहीं आते।

GAON SHAYARI IN HINDI | GAON PAR SHAYARI

सहर जाकर बस गए वो आराम और पैसों की आश में
ख्वाहिशों ने उनकी मेरा पूरा गाँव खाली कर दिया। 

 

gaon shayari



यहाँ मौसम अपने रंग बदलते है लोग नहीं
"अपना गाँव "


हवाओं में ताजगी हर पल बचपना सा लगता है,
सहारों से पहचान है अपनी
मगर गाव अपना सा लगता है।


कुछ मजबूरियां होती है दोस्त
वरना कौन अपना गाँव छोड़ना चाहता है।


बेशक आराम की जिंदगी सहरों में मिल जाएगी
मगर सुकून बस गाँव में ही आएगी।


चन्द दिनों का इश्क हम करते नहीं
गाँव के आशिक है जनाब हर किसी पे मरते नहीं।

 

हर मुश्किलें आसान हो जाती है.
वर्षों के तजुर्बे
आज भी बुजुर्गों से लिए जाते है।


गाँव में त्यौहार, त्यौहार सा लगता है
जब पूरा गाँव एक परिवार सा लगता है।


 घर ना जाऊं किसी के तो लोग रूठ जाते है 

अपने पण की तहजीब गाँव में आज भी बाकि है


अगर आपको भी गाँव में रहना पसंद है तो अपने गाँव की कुछ खास बात हमें कमेंट में बताये इस पोस्ट में हमने आपके लिए Gaon Par Shayari, Gaon ki shayari, Village shayari in hindi, Gaon ki yaadein, लिखी है जो आपको जरुर पसंद आयी होगी इसे आप अपने दोतों के साथ शेयर कर सकते है एसी ही बेहतरीन शायरी के लिए विजिट करे।


यह भी पढ़िए:-



Share:

0 Comments:

Post a comment