Pyar Aur Zindagi Shayari | (दर्द और एहसास ):

 प्यार और ज़िन्दगी की शायरी, टुटा दिल शायरी आपको इस पोस्ट में कुछ बेहतरीन शायरी मिलेगी जो जरीर आपको पसंद आएगी जिसे आप अपने दोस्तों के साथ या अपने मीडिया स्टोरी में पोस्ट कर सकते है यहाँ Pyar Aur Zindagi Shayari, Yeh zindagi hindi shayari, dil tuta shayari, पढ़  सकते है ऐसी ही शायरी के लिए और भी पोस्ट देखे। 

 

 

फासले ऐसे हुए उनसे
जो कभी सोचा न था
सामने बैठा रहा वो मेरे
पर अब वो मेरा ना था।

love life shayari hindi

सोचा नहीं था एसी बात होगी
हमसे दूर होने के लिए उन्हें
बस एक मौके की तलाश होगी।

 

मैं अकेला हूँ पर बेचारा नहीं 
मैं अपनी परेशानियों के लिए अकेला ही काफी हूँ |

 

एहमियत प्यार की हम किसी को सिखा नहीं सकते
दिल का दर्द हम दिखा नहीं सकते
कुछ रिश्ते ख़ास होते है
चाहकर भी हम उसे भुला नहीं सकते |

 

 

मेरी जिंदगी तो तुम थी
जुल्म क्या था मेरा समझा नहीं,
सायद बिखर चूका हूँ
मेरे पास क्या है कुछ पता नहीं।

Meri zindagi to tum thi
Julm kya tha mere samjha nahi,
Sayad bikhar chuka hu
Mere paas kya hai kuch pata nahi.

 

हर साम मेरी उदाश लगाती है,
अब वो मेरे पास नहीं
ये झूठी बात लगाती है।

Pyar Aur Zindagi Shayari

Har saam meri udas lagati hai
Ab vo mere paas nahi
Ye jhoothi baat lagati hai.

 

बेहोश हूँ या समझदार हो गया हूँ,
सब जान कर भी खामोश हो गया हूँ।

 

एकतरफा मोहब्बत बेमिशाल
ना टूटने का गम ना बिखरने का सवाल

ek tarfa mohabbat shayari

Ek tarfa mohabbt bemishal
na tutane ka gam naa bikharne ka sawal.

 

हमने कुछ शानदार पल बिताया है,
तन्हाई ने मुझे खुद से मिलाया है।


यह भी पढ़िए:- 

 

माजरा क्या है इश्क का
सायद अभी समझा नहीं,
बातें नजरो से कर जाती है
पूछो तो कुछ पता नहीं।

 

Maajara kya hai ishq ka
Saayad abhi samjha nahi,
Baten najaron se kar jati hai
Puchho to kuch pata nahi.

 

फिजूल की ख्वाहिशें में
जिंदगी तुझे बहकती है,
तलाश सबकी एक ही है
दो पल सुकून का।

 

Fizul ki khvahishon me
Zindagi tujhe bahakati hai
Talash sabki ek hi hai
Do pal Sukun Ka.

 

टूट जाऊ या सम्हल जाऊ आसान नहीं
तेरी बेवफाई को भूल जाऊ।

 

बेवफाई शायरी

 

Tut jaau ya samhal jaau Aashan nahi teri bewafai ko bhul jaau.

 

उस मुकाम पर आ पहुची है जिंदगी
कुछ चीजे तो पसंद है मुझे
पर चाहत किसी की नहीं।

Us mukaam par aa pahuchi hai zindagi
Kuch chize to pasand hai mujhe
par chahat kisi ki nahi.


यह भी पढ़िए:-

 

One thought on “Pyar Aur Zindagi Shayari | (दर्द और एहसास ):

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *