Banarasi Ishq Shayari: (बनारस सा इश्क हमारा )

Spread the love

Tumhi se ruthna hai,
Tumhi ko manana hai…
Tumhari julfo me bikharana hai,
Tumhari bahon me simat jana hai…!
Ye Ishq ka gubaar uthaa hai jo Assi se…
Eshe tumhare sath manikarnika tak le jana hai.

Banarasi Ishq Shayari

Banarasi Ishq Shayari

तुम्ही से रूठना है ,
तुम्ही को मनाना है …
तुम्हारी जुल्फों में बिखरना है ,
तुम्हारी बाहों में सिमट जाना है….!
ये इश्क़ का गुबार उठा है जो अस्सी से…
इसे तुम्हारे साथ मणिकर्णिका तक ले जाना है..!

..विशाल पाण्डेय

 

यह भी पढ़िए:- 

Leave a Comment