Ganga Ghat Quotes: माँ गंगा घाट बनारस स्टेटस शायरी:

Spread the love

Jai Ganga Maiya Ganga ghat quotes इस पोस्ट में आपके लिए माँ गंगा की शायरी और सुकून की शायरी लेकर आया हु आशा है आपको जरुर पसंद आयेगा।

ganga ghat quotes hindi

मोक्ष्दायानी पाप-नाशिनी माँ गंगा को नमन। गंगा के किनारे बसे सहरो की सुन्दरता और घाटों पर बैठने जैसा सुकून कही और नहीं मिल सकता। पाप पुन्य का पता नहीं पर गंगास्नान से मन सकारात्मक और मोह से दूर जरुर हो जाता है।
गंगा नदी पूरी दुनिया में अपनी शुद्धता और पवित्रता के लिए जानी जाती है. वैज्ञानिक भी यह बात मानते है। विज्ञान मानता है कि गंगाजल में बैक्टीरियोफेज नामक विषाणु होते हैं, जो हानिकारक जीवाणुओं और सूक्ष्म जीवों को मार देती है. इसलिए गंगाजल में कभी ख़राब नहीं होता।
गंगा नदी में औद्योंगिक नगरों का कचरा सीधे गंगा में गिरता है. हलाकि सरकार ने गंगा नदी की सफाई के लिए कई प्रकार की योजनाओं को चलाया है.
माँ दूषित होगी तो बच्चे कैसे सुखी रह सकते है, किनारों पर रहने वाले लोगों में बिमारियों का कारण दूषित जल होता है. हम गंगा को माँ कहते और माँ जैसी नदी को कोई कैसे दूषित कर सकता है।

Ganga Ghat Quotes Status Hindi: जय गंगा मैया:

 

दुःख नाशिनी, पाप नाशिनी माँ गंगा की निर्मल धारा है,
महादेव की जटाओं से उतर कर
माँ गंगा ने सबको तारा है।

 

maa ganga quotes image

जब मन व्यथित होता है बाहरी संसार से
मोह को छोड़ मैं चला आता हूँ माँ गंगा के घाट पे ।

 

मैं स्वर्ग की अभिलाषा छोड़ देता,
अगर मेरे न नहाने से गंगा पवित्र हो जाती।

 

माँ गंगा ने जिसे अपने धारों से संवारा है,
बनारस वही खुबसूरत घाटों का किनारा है !

 

ganga ghat varanasi status image

स्वर्ग से सुन्दर बनारस की हर शाम है,
लगता है गंगा आरती में सारे देव खुद विराजमान हैं !

 

लोहे को छूकर सोना करता फिरू
पारस थोड़े हूँ….
सबको इश्क हो जाये मुझसे
बनारस थोड़े हूँ !!

 

ना जाने क्यों कोई माँ का ख्याल नही रखता,
गंगा का जल दूषित हो रहा है पर कोई सवाल नही करता।

 

माँ गंगा का सुकून,
और पग-पग पर देवों की मूरत है
हे महादेव तुम्हारी नगरी कितनी खुबसुरत है।

 

mahadev ki nagari kashi images

गंगा मैली नहीं हुयी, पाप धूल जाने से..
गंगाजल दूषित है सहर और कारखनों से।

 

सारे तीर्थों का फल एक क्षण में मिल जाता है,
माँ गंगा में स्नान करके मनुष्य महादेव का दर्शन पाता है।

 

माँ गंगा के जल में कुछ तो बात है…
घाटों पर बैठने मात्र से सारा मोह शांत हो जाता है।

 

Leave a Comment