Dil Tuta Shayari In Hindi 25+ (दिल से शायरी):

 दिल टूटने का दर्द बयां नहीं होता, ना हम छुपा सकते है ना ही बता सकते है . यहाँ एके लिए कुछ बेहतरीन पसंदीदा शायरी लिखी है जो आपके दिल को जरुर अच्छी लगेगी और आप अपने आप को इस shayari में देखेंगे, इस पोस्ट में आपके लिए Dil tuta shayari, Dil tutane ka dard shayari, Tute hua dil ki shayari, जिसे आप अपने स्टेटस या सोशल मिडिया पोस्ट के साथ हरे कर सहते है अपनी राय हमें कमेंट में बताये अगर आपको भी शायरी लिखना पसंद है तो कमेंट में २ लाइन शायरी जरुर लिखे।

 

वो मिली ऐसे जैसे कभी बिछड़ना ही नही,
वो गयी ऐसे जैसे कभी मिला ही नही।

 

जो किया ही कभी मैंने
वो वादा निभा रहा हूँ
फिर वो बात कर रही है मुझसे
फिर से बैटन में आ रहा हूँ।


नहीं लिख पाता दिल के हर हालात को
शब्द ही नहीं मिल पाते जो बयां कर दे हर जज्बात को।

dil tuta shayari image


अब कुछ बचा ही नहीं
ना कोई बात बाकि है,
खामोश जरुर हूँ पर
दर्द की आग बाकि है।

 

दिल रोया बहोत जो जख्म दिल ने खायी है
रोक रख्खा हु हर आवाज जो दिल टूटने से आई है।

 
नफ़रत तो बहोत करता है उससे
पर नाम उसका आज भी दिल को बेचैन कर जाता है


हर बात का साबुत उन्हें देना पड़ रहा है
उनका दिल भरोशा जरुर किसी और पे कर रहा है। 

dil tuta hua shayari


ना जाने भूल किसकी थी
हमारी भूल हमें बता तो देती,
माना रूठ गए थे पर एक बार मना तो लेती।

Dil Tuta Shayari In Hindi

  • बेपरवाह सो सकूँ एक सलीका खोज रहा हूँ, तुझे भूलने का तरीका खोज रहा हूँ।
  • उनकी वजह से कुछ अपने रूठ गए, दिल से मोहब्बत किया था इसलिए टूट गए।
  • एकतरफा इश्क में ही मजा होता है, ना टूटने का दर्द बस मोहब्बत ही मोहब्बत होता है।
  • वो मेरे हर दुवाओं में आती थी अब हंसी आती है खुद पर।
  • वो किसी और से इश्क आजमा रहे और हम अपना टुटा दिल सम्हाल रहे है।
  • ऐसे ही बिखर जाऊ ये आसान नहीं, हरकतें तेरी भी पता है मुझे इतना भी अनजान नहीं।


ये इश्क की बात है क्या तुम्हे समझ आयेगी,
तुम नफरत भी मोहब्बत से करना
हमने तेरी वो अदा भी पसंद आएगी।


दिल बेचैन हो जाता है खुद से सवाल करके
क्या गलत किया मैंने तुमसे प्यार करके।


दबी है कई बाते आज भी इस ज़हन में
मत पूछना
एक दफ़ा बिखर गया था इस सहर में।


दिल टुटा है हमारा
ये मेरे दोस्तों तक को पता नहीं,
महफिल में सबसे हँस कर मिलता हु
इसमे उनकी कोई ख़ता नहीं है।


सच्चा इश्क हो और मुकम्मल !
सुनो जनाब वापस आ जाओ
ये ख्वाब नहीं हकीकत है।

हम अपना दर्द ही अब बयां नहीं करते
कुछ यादें ताजे हो जाते है। 



यह भी जरुर देखे:-




0 Comments:

Post a comment